January 29, 2023

Bhojpuriya Mati News

सच का आईना

उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी के संस्थापक रहे मुलायम सिंह यादव का सोमवार निधन हो गया

1 min read

उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी के संस्थापक रहे मुलायम सिंह यादव का सोमवार निधन हो गया

समाजवादी पार्टी के संस्थापक रहे मुलायम सिंह यादव के पहली बार विधायक बनने की कहानी काफी रोचक रही है उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी के संस्थापक रहे मुलायम सिंह यादव का सोमवार निधन हो गया. उन्होंने चार अक्टूबर 1992 को समाजवादी पार्टी की स्थापना की थी. हालांकि इससे पहले ही 1967 में ही मुलायम सिंह यादव ने यूपी की राजनीति में पैर रख दिया था. तब वे 1967 में पहली बार विधायक बने से. हालांकि वो पूरी कहानी बहुत ही रोचक है.

दरअसल, यूपी की जसवंत नगर सीट से डॉ राम मनोहर लोहिया की पार्टी से नत्थू सिंह विधायक हुआ करते थे. इस सीट पर डॉ. लोहिया की पैरवी से मुलायम सिंह यादव चुनाव लड़े. तब लोहिया की ही प्रजा सोशलिस्‍ट पार्टी से टिकट तो मिल गया, अब बाद पैसे की आ गई. तब मुलायम सिंह यादव के दोस्त दर्शन सिंह काम आए. दर्शन सिंह ने साइकिल चलाई और मुलायम सिंह पीछे बैठे. जयवंत नगर विधानसभा के गांव-गांव का दौरा किया, नारा दिया गया ‘एक वोट, एक नोट’.

कांग्रेसी उम्मीदवार को दी मात
मुलायम सिंह का मुकाबला कांग्रेस के उम्मीदवार से था. तब हेमवंती नंदन बहुगुणा के शिष्य लाखन सिंह यहां से चुनावी मैदान में थे. उस वक्त मुलायम सिंह राजनीति के नए खिलाड़ी थे, दूसरी ओर कांग्रेस का देशभर में जबरदस्त जनाधार हुआ करता था. लेकिन चुनाव के परिणाम आए तो सब चौंक गए. उन्होंने कांग्रेस के उम्मीदवार को हराकर जीत दर्ज की.

चुनाव में जीत दर्ज होने के बाद ही इसी साल नवंबर में डॉ राम मनोहर लोहिया का निधन हो गया. अपने निधन से पहले उन्होंने यादव परिवार के इस राजनीतिक खिलाड़ी के लिए रास्ता तैयार कर दिया था. खास बात तो ये रही कि पहली बार विधायक बने और पहली ही बार में वे मंत्री भी बन गए. यहां से उनके राजनीति में फूल टाइम एंट्री हो चुकी थी. अब यहीं जसवंत नगर की सीट यादव परिवार का गढ़ मानी जाती है. अखिलेश यादव के चाचा शिवपाल सिंह यादव यहां से वर्तमान में विधायक हैं

 

नहीं रहे नेताजी, 82 साल की उम्र में समाजवादी नेता मुलायम सिंह यादव ने ली अंतिम सांस स सरंक्षक और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव का सोमवार को निधन हो गया. वे 82 साल के थे. मुलायम सिंह यादव को यूरिन संक्रमण, ब्लड प्रेशर की समस्या और सांस लेने में तकलीफ के चलते पिछले दिनों गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया था.उनकी तबीयत लगातार नाजुक बनी हुई थी.

मुलायम सिंह यादव के भर्ती होने के बाद से अस्पताल में नेताओं के मिलने सिलसिला लगातार जारी था. रविवार को नेताजी का हाल जानने के लिए रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया मेदांता अस्पताल पहुंचे. वहीं इससे पहले आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी अस्पताल पहुंचकर अखिलेश यादव से की मुलाकात थी.

पीएम मोदी ने जाना था हाल

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सपा प्रमुख अखिलेश यादव से बातचीत कर मुलायम सिंह यादव के स्वास्थ्य की जानकारी ली. पीएम मोदी ने अखिलेश यादव को आश्वासन दिया था कि वे हर संभव मदद और सहायता देने के लिए मौजूद हैं. वहीं, राजनाथ सिंह मुलायम सिंह यादव का हालचाल जानने के लिए अस्पताल भी पहुंचे थे.

किसान परिवार में हुआ जन्म

मुलायम सिंह यादव का जन्म 22 नवंबर 1939 को इटावा जिले के सैफई गांव में हुआ था. उनके पिता सुघर सिंह यादव एक किसान थे. मुलायम सिंह यादव मौजूदा वक्त में मुलायम सिंह मैनपुरी सीट से लोकसभा सांसद हैं. उत्तर प्रदेश की राजनीति हो देश की राजनीति, मुलायम सिंह यादव को प्रमुख नेताओं में गिना जाता हैं. वे तीन बार UP के सीएम रहे और वो केंद्र सरकार में रक्षा मंत्री भी रह चुके हैं. इसके अलावा मुलायम सिंह 8 बार विधायक और 7 बार लोकसभा सांसद भी चुने जा चुके हैं.

मुलायम सिंह यादव ने दो शादियां की थीं. उनकी पहली पत्नी, मालती देवी की मृत्यु मई 2003 में हुई, वह अखिलेश यादव की मां थी. मुलायम ने दूसरी शादी साधना गुप्ता से की. मुलायम सिंह और साधना के बेटे का नाम प्रतीक यादव है. हाल ही में साधना का निधन हो गया था.

5 दशक का राजनीतिक करियर

1967, 1974, 1977, 1985, 1989, 1991, 1993 और 1996- 8 बार विधायक रहे.
1977 उत्तर प्रदेश सरकार में सहकारी और पशुपालन मंत्री रहे. लोकदल उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष भी रहे.
1980 में जनता दल प्रदेश अध्यक्ष रहे.
1982-85- विधानपरिषद के सदस्य रहे.
1985-87- उत्तर प्रदेश विधानसभा में विपक्ष के नेता रहे.
1989-91 में उत्तर प्रदेश के सीएम रहे.
1992 में समाजवादी पार्टी का गठन किया.
1993-95- उत्तर प्रदेश के सीएम रहे.
1996- सांसद बने
1996-98- रक्षा मंत्री रहे.
1998-99 में दोबारा सांसद चुने गए.
– 1999 में तीसरी बार सांसद बन कर लोकसभा पहुंचे और सदन में सपा के नेता बने.
– अगस्त 2003 से मई 2007 में उत्तर प्रदेश के सीएम बने.
– 2004 में चौथी बार लोकसभा सांसद बने
2007-2009 तक यूपी में विपक्ष के नेता रहे
मई 2009 में 5वीं बार सांसद बने.
2014 में 6वीं बार सांसद बने
2019 से 7वीं बार सांसद थे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.