October 2, 2022

Bhojpuriya Mati News

सच का आईना

शरीर और आत्मा के मिलन से होता है नृत्य का सृजन : रंजीता

1 min read

शरीर और आत्मा के मिलन से होता है नृत्य का सृजन : रंजीता

दरभंगा। नृत्यर्पण नूपुर कलाश्रम की प्रशिक्षिका रंजीता प्रजापति ने कहा कि शारीरिक व्यवस्थित क्रियाकलाप और आत्मीय भाव का संगम होता है, तो ही नृत्य की उत्पत्ति होती है। उन्होंने कहा कि एक नृत्यांगना के अंदर दोनों को साथ लेकर चलने की कला होनी चाहिए। उन्होंने उक्त बातें अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद्, दरभंगा इकाई के तत्वावधान में एमआरएम कॉलेज में आयोजित सर्जना निखार शिविर में कही। वहीं पत्रकरिता के प्रशिक्षक राघव झा ने आज अखबार में खबर का हेड लाइन कैसे लिखा जाता है, इस पर विस्तृत चर्चा की। कंप्युटर के प्रशिक्षक ई. देव सिंह ने शिविर में सॉफ्टवेयर डिवाइस के कार्य एवं उपयोग के बारे में जानकारी से अवगत करवाया।

फाइन आर्ट की प्रशिक्षिका अनामिका कुमारी ने स्केचिंग की विधियों को सरल तरीके से बनाने की दिशा-निर्देश दिया। एजुकेशन सोल्युशन फॉर यू के निर्देशक के द्वारा शिविर में आ रही प्रशिक्षकों को कैरियर काउंसलिंग के बारे में बताया गया। संगीत के प्रशिक्षक मोहित पांडेय ने लोकगीत के बारे में चर्चा कर एवं स्वराभ्यास पर जोड़ दिया। इस अवसर पर सहयोग में प्रदेश सह मंत्री पूजा काश्यप, वैष्णवी कुमारी, पूजा कुमारी, महानगर मंत्री सूरज ठाकुर, विभाग संयोजक उत्सव पराशर, अंजली सहित अन्य सहयोगी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.