September 27, 2022

Bhojpuriya Mati News

सच का आईना

केंद्र सरकार के 8 साल सेवा सुशासन और गरीब कल्याण के तहत जन संवाद कार्यक्रम

1 min read

केंद्र सरकार के 8 साल सेवा सुशासन और गरीब कल्याण के तहत जन संवाद कार्यक्रम

भारतीय जनता पार्टी छपरा सारण के तत्वधान में केंद्र सरकार के 8 साल सेवा सुशासन और गरीब कल्याण के तहत जन संवाद कार्यक्रम का आयोजन नगर निगम के मैदान में किया गया। कार्यक्रम का उद्घाटन बिहार सरकार के कला संस्कृति युवा विभाग मंत्री आलोक रंजन झा, महाराजगंज सांसद जनार्दन सिंह सिग्रीवाल,उप मुख्य सचेतक बिहार विधानसभा जनक सिंह, बिहार सरकार के पूर्व मंत्री महाचंद्र प्रसाद सिंह, छपरा विधायक डॉ सीएन गुप्ता, गरखा के पूर्व विधायक ज्ञानचंद मांझी, भाजपा के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष ब्रजेश रमण, प्रदेश प्रवक्ता अखिलेश कुमार सिंह, जिप उपाध्यक्ष प्रियन्का सिंह ने दीप प्रज्वलित कर तथा श्यामा प्रसाद मुखर्जी तथा दीनदयाल उपाध्याय के तैल चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर किया। बिहार सरकार के कला एवं संस्कृति युवा विभाग मंत्री आलोक रंजन झा ने अपने संबोधन में कहा खेलों ने बढ़ाया भारत का मान, टोक्यो ओलंपिक और पैरालंपिक में रिकॉर्ड मेडल, खेलो इंडिया के तहत 6.28 लाख/वर्ष के साथ 2,500 से अधिक एथलीटों को मिली मदद। 1,000 खेलो इंडिया केंद्र किए जा रहे स्थापित। वैश्विक स्तर पर भारत का बढ़ता कद,QS वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग 2022 के विषयवार रैंकिंग में टॉप 100 में से 35 प्रोग्राम, टॉप 50 में भारत के 4 प्रतिष्ठित संस्थान हैं।

 

महाराजगंज सांसद जनार्दन सिंह सिग्रीवाल ने अपने सम्बोधन में कहा उच्चस्तरीय तकनीकी शिक्षा का विकास हुआ है। औसतन हर साल देश में खुला एक नया आईआईटी।

2014 में जहां 16 आईआईटी थे, वहीं अब 2022 में आईआईटी की संख्या बढ़कर 22 हो गई है। सर्वत्र, सर्वसुलभ शिक्षा पर जोर दिया गया।

सभी ग्रेड के लिए क्यूआर कोड सक्रिय पाठ्य पुस्तकें (एक राष्ट्र, एक डिजिटल प्लेटफॉर्म) सुलभ कराया गया। शिक्षा वाणी के जरिए रेडियो, सामुदायिक रेडियो और सीबीएसई पोडकॉस्ट का सदुपयोग हुआ।

उप मुख्य सचेतक जनक सिंह ने सभा को सम्बोधित करते हुए कहा मेडिकल एजुकेशन में ऐतिहासिक विस्तार हुआ है। भारत के हेल्थकेयर सिस्टम में नई प्रतिभाओं को बढ़ावा मिला है। 2014 में 7 एम्स, 387 मेडिकल कॉलेज थे, जबकि 2022 में 22 एम्स क्रियाशील/स्वीकृत और 606 मेडिकल कॉलेज हो गए है।

बिहार सरकार के पूर्व मंत्री महाचंद्र प्रसाद सिंह ने अपने सम्बोधन में कहा आदिवासी बच्चों के लिए शिक्षा के अवसर बढ़े है। 2004- 2014 तक एकलव्य मॉडल आवासीय स्कूलों की संख्या 90 थी, वहीं 2014 के बाद इन स्कूलों की संख्या बढ़ाकर 500 की गई। भाजपा जिलाध्यक्ष रामदयाल शर्मा ने सभा को सम्बोधित करते हुए कहा युवा भारत के लिए नए अवसरों की भरमार हुई है। टेक स्टार्ट-अप ने प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से 23 लाख रोजगार सृजित किए। नए रोजगार पैदा करने के लिए मुद्रा योजना ने 35 करोड़ आंत्रप्रेन्योर्स को सपोर्ट किया। पूर्व विधायक ज्ञानचंद मांझी ने अपने संबोधन में कहा 34 साल बाद राष्ट्रीय शिक्षा नीति में बदलाव हुआ है। नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति से स्ट्रीम के चुनाव में फ्लेक्सबिलिटी आई है।

सभा को प्रदेश प्रवक्ता अखिलेश सिंह नगर विधायक डॉक्टर सीएन गुप्ता, पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष ब्रजेश रमण, जिप उपाध्यक्ष प्रियन्का सिंह आदि ने सम्बोधित किया।

पूर्व जिलाध्यक्ष अशोक कुमार सिंह, वंशीधर तिवारी, पूर्व प्राचार्य अरुण कुमार सिंह, उपाध्यक्ष बृजमोहन सिंह, डॉक्टर धर्मेन्द्र कुमार सिंह, लाल बाबू कुशवाहा, रणजीत कुमार सिंह, तारा देवी, महामन्त्री शान्तनु कुमार, रामाशंकर मिश्र शांडिल्य, प्रवक्ता विवेक कुमार सिंह भाजपा युवा नेता श्याम बिहारी अग्रवाल, मंत्री सीमा सिंह, सत्यानंद सिंह, हरिनारायण सिंह, प्रबोध सिंह, नगर अध्यक्ष सुशील कुमार सिंह, बलवंत सिंह, प्रमोद सिग्रीवाल, अमरजीत कुमार सिंह आदि हजारों की संख्या में जनता उपस्थित हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.