November 30, 2022

Bhojpuriya Mati News

सच का आईना

एफपीओ के माध्यम से दरभंगा बनेगा मखाना हब : सांसद मखाना अनुसंधान केन्द्र में कार्यशाला का आयोजन

1 min read

एफपीओ के माध्यम से दरभंगा बनेगा मखाना हब : सांसद
मखाना अनुसंधान केन्द्र में कार्यशाला का आयोजन

दरभंगा। सांसद डॉ. गोपालजी ठाकुर आज यहां कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था की रीढ़ है कृषि। मखाना कृषक को एफपीओ के माध्यम से किसानों की आर्थिक स्थिति को मजबूत किया जाएगा। वे आज मखाना अनुसंधान केन्द्र में सीएसएस स्कीम के तहत आयोजित कार्यशाला को संबोधित कर रहे थे। सांसद ने कहा कि एफपीओ भारत सरकार का महत्वाकांक्षी योजना है। सांसद ने कहा कि इस परियोजना के अंतर्गत प्रखंड स्तर पर एक किसानों का संगठन बनेगा, जिसमें सभी कृषक दो हजार रुपये अपना अंशपूंजी जमा करेंगे, भारत सरकार एफपीओ के हितधारकों के अंशपूंजी के बराबर अधिकतम 15 लाख का इक्विटी ग्रांट एफपीओ को देगी साथ ही एफपीओ के प्रबंधन एवं संचालन के लिए तीन वर्ष के लिए 18 लाख रुपये तक का प्रबंधन खर्च देंगी।

प्रत्येक एफपीओ में एक कृषि स्नातक सीईओ और एक लेखाकार की नियुक्ति एफपीओ द्वारा की जाएगी। सांसद ने कहा कि इस कार्यशाला का उद्देश्य जिले में मखाना उत्पादक किसानों का सहकारी कृषक उत्पादक संगठन बनाकर दरभंगा को मखाना हब के रूप में विश्व पटल पर स्थापित करने हेतु कार्ययोजना एवं सभी स्टेकहोल्डर्स के बीच समन्वय स्थापित करना है। इस अवसर पर नाबार्ड के डीडीएम आकांक्षा ने कहा कि भारत सरकार के एक जिला एक उत्पाद परियोजना के अंतर्गत भी मखाना के लिए ही दरभंगा चयनित है और मखाना के किये जिलाधिकारी को प्रधानमंत्री के हाथों सिविल सेवा दिवस के अवसर पर सम्मानित किया गया था। उन्होंने कहा कि कृषकों को एक ऐसा प्लेटफार्म प्रदान करेगा कि दरभंगा का मखाना देश विदेश तक पहुंचेगा।

इस अवसर पर मैनेजिंग ट्रस्टी कौशलेन्द्र, जिला कृषि पदाधिकारी राधा रमण, मखाना अनुसंधान केंद्र के हेड साइंटिस्ट इंदु शेखर सिंह, संयुक्त निदेशक पौधा संरक्षण डॉ. प्रमोद कुमार, परियोजना निदेशक आत्मा पूर्णेंदु नाथ झा, सहायक निदेशक उद्यान आभा कुमारी, प्रो. विद्यानाथ झा, महेश मुखिया, राजेश सहनी, धीरेंद्र कुमार, बैद्यनाथ यादव, अर्चना कुमारी, श्रवण कुमार राय, दीपक आनंद, अजय कुमार सहनी, त्रिवेणी मुखिया, हरी सहनी, लाल मुखिया, गंगाराम सहनी, राजेंद्र सहनी, रामनाथ सहनी, लालबहादुर सहनी, महेश सहनी, पारसनाथ चौधरी, कृष्ण भगवान झा, मणिकांत मिश्रा, बालेंदु झा, अमरनाथ राय, संजीव गुप्ता, रामज्ञा चौधरी, शंकर सिंह, अभिषेक कर्ण, रजनीश सुंदरम, रवि कुमार, जय भारद्वाज सहित अन्य लोग शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.